घर बैठे पढ़ाई कैसे करें

Self Study Tips in Hindi

Top 10 
Most Effective Tips 
for 
Self Study 
at 
Home


लॉकडाउन में घर बैठे सेल्फ स्टडी कैसे करें? | Top 10 most effective tips for self study at home



हेलो दोस्तों,

www.gyaaniram.com

आप सभी जानते हैं कि हमारे जीवन में पढ़ाई की कितनी इंपोर्टेंस है. हम चाहे कितनी भी कोचिंग कर ले या फिर कितना भी स्टडी मैटेरियल परचेज कर ले लेकिन फिर भी हमारी अच्छी स्टडी के लिए जिस चीज की सबसे ज्यादा जरूरत होती है वह है सेल्फ स्टडी.
जी हां दोस्तों Self Study के बिना आपकी कोई भी कोशिश आपकी पढ़ाई को पूरी नहीं कर पाएगी. 
और 
सेल्फ स्टडी एक तपस्या की तरह होती है जिसके लिए हमें सच्ची साधना की जरूरत होती है. 

इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे टॉप 10 Self Study Tips in Hindi जिन्हें फॉलो करके आप अपनी सेल्फ स्टडी की रणनीति भी बना पाएंगे और उसमें पूरी तरह सफल भी हो जाएंगे.  और साथ ही जान पाएंगे कि सही ढंग से घर बैठे पढ़ाई कैसे करें ?


www.gyaaniram.com


तो आइए जानते हैं इन Top-10 Self study Kaise Kare Tips in Hindi  के  बारे में-



1. अपने डेली रूटीन  को  फिक्स रखें-

एक अच्छी Self Study करने के लिए यह सबसे जरूरी है कि आप अपना डेली रूटीन रेगुलर और फिक्स रखें जैसे कि सुबह कितने बजे उठना है, उसके बाद क्या-क्या काम सीक्वेंस wise फ्री करने हैं और किस टाइम पर हमें ब्रेकफास्ट लेना है, कब पढ़ाई करने बैठना है, और कितनी देर पढ़ाई करना है. 

इससे आपको यह फायदा होगा कि आपका टाइम बिल्कुल भी खराब नहीं होगा और जो काम जिस समय पर फ्री होना चाहिए वह उसी टाइम पर फ्री होता जाएगा.





2. स्टडी प्लेस भी हो कुछ खास-

Self Study में सबसे अहम रोल इस बात का होता है कि आप पढ़ाई करने किस जगह पर बैठते हैं? 
आपकी पढ़ाई करने वाली जगह का वातावरण कैसा है?

सबसे पहली बात तो यह कि जिस जगह पर आप पढ़ाई करते हैं वह लगभग फिक्स होनी चाहिए बार-बार बदलनी नहीं चाहिए और वहां पर पर्याप्त मात्रा में हवा पानी आनी चाहिए और किसी भी प्रकार का डिस्टरबेंस नहीं होना चाहिए.

यह स्टडी प्लेस कहीं भी हो सकता है, आपका रूम भी हो सकता है, आपके घर की छत भी हो सकती हैं, आपके घर का गार्डन भी हो सकता है, बालकनी भी हो सकती हैं और वेटिंग रूम भी हो सकता है जैसा भी आपको सही लगे.





3. बैलेंस और रेगुलर डाइट लें-

हमारे भोजन का तरीका और मात्रा सीधे-सीधे हमारे दिमागी संतुलन से जुड़ा होता है. अगर आपकी डाइट बैलेंस और रेगुलर नहीं है तो इसका साफ साफ यह मतलब होता है कि आपका किसी भी काम में पूरी तरह मन नहीं लग पाएगा आपकी एकाग्रता भंग होती रहेगी. इसका सीधा असर आपकी Self Study पर आएगा. 
इसलिए हमेशा संतुलित पोस्टिक और हल्का भोजन 
लीजिए. ताकि आपको पढ़ते वक्त ना तो आलस आए और ना ही भूख लगे.


www.gyaaniram.com




4. स्टडी प्लान हो कुछ ऐसा-

आप जानते हैं कि हर सफल काम के पीछे एक प्रॉपर प्लानिंग होती हैं बिना प्लानिंग के कोई भी काम सक्सेस नहीं हो पाता. 
 लेकिन इसका मतलब यह भी नहीं होता कि हम केवल प्लानिंग ही करते रह जाए और काम करने का वक्त ही निकल जाए.
अपने Self Study प्लान को बनाने में पूरा वक्त दीजिए लेकिन जब प्लान बन कर तैयार हो जाए तब उसी पर फोकस रखें और उस प्लान को मजबूती से फॉलो करें. 
अपना स्टडी प्लान बनाते समय किसी के बनाए हुए प्लान की कॉपी ना करें अपनी जरूरतों और समय के अनुसार अपना खुद का स्टडी प्लान तैयार करें.





5. सोशल मीडिया और इंटरनेट का करें सदुपयोग-

आज के युग में जब हम स्टडी प्लान के बारे में सोचते हैं तो सबसे बड़ी रूकावट या डिस्टरबेंस का कारण बनता है सोशल मीडिया और इंटरनेट.
लेकिन अगर हम इस वरदान रूपी तकनीक का सदुपयोग करना सीख जाए तो यह हमारे लिए रुकावट नहीं बल्कि सफलता की एक सीढ़ी भी बन सकती है.
हमें सोशल मीडिया इंटरनेट का लिमिटेड उपयोग करना चाहिए और Self Study करते समय अपने डाउट्स क्लियर करने के लिए ही इसका उपयोग करना चाहिए ना कि और किसी फालतू काम के लिए. 





6. अपनी हॉबी पर भी दे ध्यान-

जो काम करना हमें सबसे ज्यादा अच्छा लगता है उस काम को करते वक्त हमारा दिमाग काफी खुश होता है और जब दिमाग खुश होता है तो वह अच्छे से काम करता है. हालांकि कई लोगों की हॉबी पढ़ने में भी होती है लेकिन उनका अनुपात बहुत कम होता है.

यहां मैं बात कर रहा हूं उस हॉबी की जिसे आप अच्छे से जीते हैं तो अपने Self Study के प्लान में एक निश्चित टाइम अपनी हॉबी को भी जरूर से दें.
लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि यह टाइम ना तो आपके डेली रूटीन प्लान में सबसे पहले का हो ना और ना ही सबसे लास्ट का हो.  यह टाइम उस वक्त का हो जब आप अपनी पढ़ाई से बोर हो रहे हो.




7. स्टडी मटेरियल रखें लिमिटेड-

Self Study करते समय अक्सर हम यह गलती करते हैं कि हम अपनी स्टडी मैटेरियल को ज्यादा से ज्यादा add करते ही जाते हैं.
अपना स्टडी मटेरियल ऐसा रखें कि आपका पूरा सिलेबस कवर करें लेकिन एक ही टॉपिक के सिलेबस को कवर करने के लिए एक से ज्यादा मैटेरियल्स ना रखें. 
इससे आपका कन्फ्यूजन लेवल कम रहेगा और रिवीजन लेवल बढ़ता रहेगा.
हमेशा अच्छे राइटर की बुक को ही प्राथमिकता दें ताकि आपका पढ़ा हुआ कंटेंट ट्रस्टेड और ऑथेंटिक हो.






8. भरपूर नींद, योगा और एक्सरसाइज भी है जरूरी-

दिनभर Study करने से दिमाग और शरीर दोनों थक जाते हैं इसलिए भरपूर नींद भी है जरूरी, और इसके साथ ही सुबह योगा और हल्की-फुल्की एक्सरसाइज को भी अपने डेली रूटीन में शामिल करें इससे आपके शरीर में दिनभर एनर्जी बनी रहेगी और पढ़ाई में अच्छे से फोकस कर पाएंगे, पढ़ा हुआ कंटेंट अच्छे से दिमाग में फिट होता रहेगा.







9. ब्रेक भी बनता है दोस्तों-

जब भी हम किसी काम को लगातार करते रहते हैं तो उसकी प्रोडक्टिविटी कम होती जाती है इसलिए अपनी Self Study के बीच बीच में थोड़ा थोड़ा ब्रेक जरूर लेते रहे. 
आप एक घंटा पढ़ाई करते हैं तो उसके बाद 20 मिनट का ब्रेक जरूर ले और उस ब्रेक में आप थोड़ा रेस्ट कर सकते हैं या कुछ गेम खेल सकते हैं या अपने दोस्तों से बात कर सकते हैं अपने फैमिली मेंबर से बात कर सकते हैं या कुछ भी ऐसा करें जो आपको अच्छा लगता हो लेकिन ऐसा कुछ ना करें जिससे आप डिस्टर्ब होते हो.  
ऐसा करने से जब आप दोबारा पढ़ने बैठेंगे तो आपका दिमाग फ्रेश रहेगा और आप चीजों को अच्छे से समझ पाएंगे और उसे लंबे समय तक याद भी रख पाएंगे.






10. नोट्स बनाने का बेहतरीन तरीका सीखें-

Self Study का मतलब ही यही होता है कि आप यहां किसी दूसरे के नोट्स पर डिपेंड ना रहकर अपने खुद  के नोट्स तैयार करें, उन्हीं पर फोकस रहे और उनका ही रिवीजन करते रहें.
 तो इसके लिए आपको प्रॉपर और अच्छे नोट्स भी बनाना आना चाहिए. नोट्स कैसे बनाये  इसके बारे में आगे पढ़े-


नोट्स कैसे बनाये इसके बारे में कुछ टिप्स इस प्रकार है-

1. किसी भी टॉपिक का नोट्स बनाने से पहले उस टॉपिक को कम से कम 2 बार जरूर पढ़ें.  ताकि उसके बारे में आपको अच्छे से जानकारी हो जाए.
2.  आप के नोट्स इस तरफ से बने होने चाहिए कि आप से कम समय में भी जल्दी से रिवाइट कर सके.
3. जिन कागजों या कॉपीज में आप नोट्स बनाएं वह अच्छी क्वालिटी होनी चाहिए ताकि लंबे समय तक चले.
4.  अपने टॉपिक को छोटे-छोटे सब टॉपिक्स में डिवाइड करके नोट्स बनाएं.
5. अपनी हैंडराइटिंग अच्छी रखें ताकि बाद में समझने में दिक्कत ना आए.
 तो यहां आपने सीखा की study notes kaise banaye in hindi 




और सबसे लास्ट में एक जरूरी बात है यह की ghar baithe padhai करते वक्त कभी भी किसी भी मामले में अपने आप की किसी दूसरे के साथ कंपैरिजन ना करें. क्योंकि 
आपकी ताकत और कमजोरी किसी दूसरे के ताकत और कमजोरी से अलग है. तो जाहिर सी बात है कि आपकी रणनीति भी सबसे अलग और केवल खुद के अनुसार होनी चाहिए इसलिए अपनी ताकत और कमजोरी को पहचाने और उसी के अनुसार अपनी रणनीति बनाएं.

इन टॉप 10 Self Study Tips in Hindi को फॉलो करने से आपकी सेल्फ स्टडी में एक सकारात्मक सुधार दिखाई देगा अगर आपको इन Self Study Tips को फॉलो करने से कुछ फायदा मिला हो तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें और अपने डाउट्स को कमेंट बॉक्स में हमसे शेयर करें.

धन्यवाद...!